चीन ने अफगानिस्तान मुद्दे के लिए विशेष राजदूत भारत भेजा

चीन ने अफगानिस्तान मुद्दे के लिए विशेष राजदूत भारत भेजा

नई दिल्ली (महामीडिया) अफगानिस्तान में तालिबान ने भले ही सत्ता हासिल कर ली हो, लेकिन भारत ने हाल ही में अफगानिस्तान को अनाज भेजकर और तालिबानी नेताओं से बात करके यह जता दिया है कि वह अफगानिस्तान की आम जनता की परेशानियों में अभी भी उनके साथ खड़ा है। यह बात अब चीन भी समझ गया है। भले की पाकिस्तान उसका पिट्ठू हो, लेकिन उसे पता चल गया ​है कि अफगानिस्तान में भारत के बिना काम नहीं चलेगा। इसलिए चीन ने अफगानिस्तान के लिए विशेष दूत भारत भेजा है। 
अफगानिस्‍तान के लिए चीन के विशेष राजदूत यूई जियाओयोंग पहली बार भारत आए हैं। तालिबान शासित देश में क्‍या हालात हैं, इसपर चर्चा के लिए उन्‍हें दिल्‍ली भेजा गया। जून 2020 में गलवान में झड़प के बाद दोनों पक्षों का यह दूसरा बड़ा कार्यक्रम रहा। आधिकारिक सूत्रों के अनुसार, यूई की दिल्‍ली यात्रा इसलिए महत्वपूर्ण है क्‍योंकि बीजिंग को समझ आ गया है कि भले ही पाकिस्‍तान चीन का पिछलग्गू है, लेकिन अफगानिस्तान में कोई भी काम करना हो तो वह बिना भारत की उपस्थिति के नहीं किया जा सकता।  

सम्बंधित ख़बरें