स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर ब्रह्मचारी गिरीश जी का शुभकामना सन्देश

स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर ब्रह्मचारी गिरीश जी का शुभकामना सन्देश

भोपाल [महामीडिया]: महर्षि विद्या मंदिर  विद्यालय समूह के माननीय अध्यक्ष आदरणीय ब्रह्मचारी गिरीश जी ने आज  स्वतंत्रता दिवस 2022 के अवसर पर अपना   शुभकामना संदेश जारी  किया जो इस प्रकार है.....  
सभी पदाधिकारियों, पंडितगणों एवं स्टाफ सदस्यों तथा उनके परिवारजनों को स्वतंत्रता के 75 वर्ष पूर्ण होने एवं स्वतंत्रता के 76 वें वर्ष की प्रारंभ की शुभकामनाएं।
आज हम सब हमारे राष्ट्र " वेद भूमि, देव-भूमि,पुण्य-भूमि भारत" की स्वतंत्रता के 75 वर्ष पूर्ण होने का अमृत उत्सव मना रहे हैं। हम ईश्वर से प्रार्थना करते हैं कि सुख, शांति, समृद्धि, उत्तम स्वास्थ्य, ज्ञान, अजेयता और स्वर्ग सा  जीवन हमारे प्यारे भारतीय नागरिकों के लिए और उनके माध्यम से हमारे प्रिय विश्व परिवार के सभी वैश्विक नागरिकों के लिए सदैव उपलब्ध रहे।
अनंत श्री गुरुदेव स्वामी ब्रह्मानंद सरस्वती जी महाराज और परम पूज्य महर्षि महेश योगी जी द्वारा  आशीर्वाद स्वरूप दिए गए हमारे  प्राचीन भारतीय वैदिक ज्ञान एवं आध्यात्मिक परंपरा के साथ - साथ महर्षि प्रभाव को शीघ्रातिशीघ्र एक वास्तविकता बनाने के लिए हम योगिक फ्लायर्स सहित 10,000 भावातीत ध्यान तथा भावातीत ध्यान सिद्धि साधकों का एक समूह स्थापित करने के लिए प्रतिबद्ध हैं। 
इससे समाज की सामूहिक चेतना में सामंजस्य व सकारात्मकता बढ़ेगी तथा हमारे देश और विश्व के हर भाग से गरीबी, पीड़ा, संघर्ष, आतंकवाद, युद्ध का भय, तनाव, उदासी और अंधकार को दूर करने का मार्ग प्रशस्त होगा। हम हर भारतीय के लिए और उनके माध्यम से इस पीढ़ी के हर व्यक्ति के लिए तथा आने वाली सभी पीढ़ियों के लिए इसे जीवन की वास्तविकता बनाने के लिए प्रयत्न करेंगे।
आइए, आज हम 10,000 'साधकों' के इस समूह को  स्थापित करने के लिए  हर संभव प्रयास करने का संकल्प लेते हैं और इस समूह का भाग बनने का भी प्रयास करेंगे। इस पावन अवसर पर यह हमारा दृढ संकल्प होना चाहिए कि हम अपनी मातृ भूमि भारत को वेद भूमि भारत के रूप में पुनर्स्थापित करेंगे, जहां प्राणी  "स्वतंत्रता के अमृत" का अनुभव करेगा तथा आनंदमय एवं स्वर्ग समान जीवन का आनंद उठाएगा।

इस स्वतंत्रता दिवस की अनंत  शुभकामनाओं के साथ
जय भारत माता, जय गुरु देव ,जय महर्षि जी 

ब्रम्हचारी गिरीश
 

सम्बंधित ख़बरें