म.प्र. में श्रमिक कल्याण की राशि का दुरूपयोग

म.प्र. में श्रमिक कल्याण की राशि का दुरूपयोग

भोपाल [ महामीडिया] म.प्र. के तीन लाख से अधिक श्रमिकों के वेलफेयर के लिए रखे फंड में से 82 करोड़ रुपए बिजली सब्सिडी में डालने की तैयारी है। इसकी फाइल चल गई है। दिसंबर 2021 में भी 416.17 करोड़ रुपए इसी तरह बिजली सब्सिडी के रूप में दिए गए थे। श्रमिकों के वेलफेयर के लिए जुटने वाली इस राशि का उपयोग 15 से अधिक योजनाओं में होता है। इसमें दुर्घटना के दौरान मदद, मृत्यु उपरांत सहायता, प्रसव में राशि सहयोग और विदेश में पढ़ाई आदि के उपयोग शामिल हैं।पूर्व में 416.17 करोड़ की रकम यह कहकर दी गई कि जो संबल योजना में पंजीकृत श्रमिक हैं, उन्हें सौ यूनिट बिजली सौ रुपए में दी जाती है। यह सब्सिडी वाली है, जिसकी बाकी राशि श्रम विभाग की ओर से बिजली विभाग को दी गई है। इस बार भी कुछ यही तर्कों के साथ पैसा देने की तैयारी है।

सम्बंधित ख़बरें