राम मंदिर निर्माण कार्य प्रगति पर

राम मंदिर निर्माण कार्य प्रगति पर

अयोध्या (महामीडिया) 5 अगस्त 2020 को ठीक 2 साल पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अयोध्या में बनने वाले भव्य राम मंदिर की नींव रखी. इस आधारशिला के साथ ही दुनियाभर के रामभक्तों में उम्मीद जगी कि अयोध्या में जल्द ही भगवान राम का भव्य मंदिर बन जाएगा. मंदिर के निर्माण कार्य को शुरू हुए अभी 2 साल हो गए हैं और मंदिर का काफी काम हो चुका है. 
अभी तक मंदिर निर्माण में फ्लिंच का काम तीन चौथाई पूरा हो चुका है. यहां के ट्रस्ट के हिसाब से जो काम सितंबर के महीने में पूरा होना था, वो अगस्त के महीने में ही हो चुका है. माना जा रहा है कि 23 दिसंबर 2023 तक गर्भगृह का कार्य पूरा हो जाएगा.
उम्मीद है कि गर्भगृह के निर्माण के बाद से दिसंबर 2023 से भगवान राम के दर्शन का काम भी शुरू हो जाएगा. पत्थरों की आपूर्ति का काम करीब पूरा हो गया है ओर मंदिर निर्माण के चार चरण पूरे हो चुके हैं. इसमें पांचवें और कुछ जगह छठी लेयर का काम चल रहा है यानी फ्लिंच का करीब 90 फीसदी काम हो चुका है. ट्रस्ट का अगला लक्ष्य अब दूसरी मंजिल का निर्माण कार्य होगा. मंदिर नागरशैली तरीके से बनाया जा रहा है और इन मंदिरों की खास बात ये होती है कि ये काफी खुले रहते हैं. ऐसा ही इस मंदिर में होगा.
जहां भगवान राम का गर्भगृह बनाया जाएगा और जो परिक्रमा मार्ग होगा वो संगमरमर से बनाया जाएगा. इसका निर्माण कार्य चल रहा है और इसके आधार पर काफी काम किया जा रहा है. मंदिर को काफी मजबूती से बनाया जा रहा है और ये इतना मजबूत होगा कि इसकी उम्र कम से कम 1000 साल होगी. खास बात ये है कि अभी यहां दर्शन मार्ग भी बनाया गया है, जिससे अभी जा रहे दर्शनार्थी गुजरते हैं और मंदिर निर्माण कार्य को आसानी से देख लेते हैं.
 

सम्बंधित ख़बरें